11 रुद्र अवतार दिलाते हैं सुख और ऐश्वर्य!

भगवान शिव के 11 रुद्र अवतार।
 
कैसे पाएं इन 11 अवतारों की कृपा। इनके सुनने, ध्यान करने और स्मरण करने मात्र से दूर होते हैं सारे कष्ट और संताप। मिलता है सर्वसुख, एश्ववर्य और होती है समस्त मनोकामना पूर्ण।
मेष-व्यापारिक सहयोगी व जीवनसाथी के साथ वैचारिक मतभेद होगा।
क्या करें-पक्षियों को चारा दें।
क्या न करें-मांसाहार से बचें।
वृषभ-आज स्वास्थ्य सुख में कमी होगी। श्रम बढ़ेगा।
क्या करें-हनुमान जी को शुद्ध घी का दीपक अर्पित करें।जिसमे कच्चे सूत के कलावे की दोमुही बत्ती हो।
क्या न करें-दूसरे के वाद विवाद से बचना आवश्यक है।
मिथुन-मेहनत अधिक होगी। लाभ कम होगा।
क्या करें-धन लाभ हेतु मछलियों को आटे की गोलियां दें।
क्या न करें-निवेश से बचें।
कर्क-पारिवारिक व्यस्तता बढ़ेगी। तनाव होगा।
क्या करें-चांदी की गाय बनवाकर किसी विद्वान ब्रह्मण से प्राण प्रतिष्ठित कराकर ब्रह्मण को ही दक्षिणा सहित दान दें।
क्या न करें-लालच, लोभ से बचें।
सिंह-बौद्धिक श्रम बढ़ेगा परन्तु भाग्य साथ देगा जिससे लाभ मिलेगा।
क्या करें-सर्व कष्ट से मुक्ति हेतु गणेश जी की अराधना करें।
क्या न करें-धन का व्यय ना करें।
कन्या-आत्मविश्वास में वृद्धि होगी जिससे जिम्मेदारी पूरी कर सकेंगे।
क्या करें-हनुमान जी को भोग अर्पित कर दर्शन करें।
क्या न करें-यात्रा करने से बचें।
तुला-आर्थिक संकट व खर्च के कारण संतान से सम्बंधित महत्व्यपूर्ण निर्णय लेना कठिन होगा।
क्या करें-ताम्बे के पात्र में जल ले कर रोली मिला ले व सूर्य देव को अर्घ्य दें।
क्या न करें-कार्य की रूकावट से तनाव ना लें।
वृश्चिक-किसी व्यापारी मित्र से शत्रुता प्रतिष्ठा के लिए चुनौती बन सकती है।
क्या करें-घर में उत्तर या पूर्व दिशा में एक्वेरियम रखें।
क्या न करें-आलस्य आपको कभी नहीं सुहाएगा।
धनु-परिश्रम से आय बढ़ेगी। धन संग्रह होगा।
क्या करें-विष्णु सहस्रनाम का पाठ करें।
क्या न करें-दिल की बात हर किसी से ना करें।
मकर-नए आदेश और काम का बोझ कष्टप्रद सिद्ध होगा।
क्या करें-शारीरिक रूप से अक्षम व्यक्ति को दान दें।
क्या न करें-पारिवारिक ज़िम्मेदारी से मुंह ना मोड़ें।
कुम्भ-आजीविका बदलने का विचार मन में आना सम्भव है।
क्या करें-काली मिर्च के 5 दाने अपने सिर से 7 बार उतारकर 4 दाने चारों दिशाओं में फेंक दें तथा पांचवे दाने को आकाश की ओर उछाल दें।
क्या न करें-कटु वचन ना बोलें।
मीन-आपका व्यवहार क्रोध व उत्तजेना से परिपूर्ण होगा।
क्या करें-लाल पुष्प का पौधा लगाएं।
क्या न करें-संपत्ति निवेश से बचें
Copyright © The Lord Shiva. All Rights Reserved.